उत्तर प्रदेश में एक दिन में ढाई गुना बढ़े कोरोना संक्रमित, 65 नए पॉजिटिव केस मिले

उत्तर प्रदेश में एक दिन में ढाई गुना बढ़े कोरोना संक्रमित, 65 नए पॉजिटिव केस मिले

उत्तर प्रदेश में बीते एक हफ्ते से कोरोना से संक्रमित रोगियों की लगातार घट रही संख्या मंगलवार को अचानक बढ़ गई। कोरोना वायरस से संक्रमित 65 नए रोगी मिले, जबकि इससे एक दिन पहले सोमवार को 25 मरीज ही मिले थे। एक ही दिन में मरीजों की संख्या ढाई गुना तक बढ़ गई। करीब एक हफ्ते पहले 28 जुलाई को 89 रोगी मिले थे। तब से लगातार रोगियों की संख्या कम हो रही थी।

यूपी में पिछले 24 घंटे में 10 जिलों में फिर नए रोगी सामने आए हैं। एक दिन पहले 58 जिलों में कोई रोगी नहीं मिला था, लेकिन अब यह संख्या सिमटकर 48 रह गई है। जिन जिलों में नए मरीज मिले हैं, उनमें कुशीनगर, रायबरेली, गौतमबुद्धनगर, सहारनपुर, मुजफ्फरनगर, देवरिया, जौनपुर, शाहजहांपुर, कासगंज व कौशांबी शामिल हैं। बीते एक सप्ताह में किसी भी जिले में दहाई में मरीज नहीं मिला था, लेकिन मंगलवार को लखनऊ में 11 रोगी मिले। इस बीच कोरोना से दो मरीजों की मौत हुई, जबकि इससे पहले लगातार तीन दिन किसी भी मरीज की कोरोना से जान नहीं गई थी।


उत्तर प्रदेश में अब तक कुल 17.08 लाख लोग कोरोना से संक्रमित हुए हैं, जिसमें 16.85 लाख रोगी स्वस्थ हो चुके हैं। इस दौरान कुल 22,765 रोगियों की मौत हुई है। अब सक्रिय केस 672 हैं। पाजिटिविटी रेट 0.01 प्रतिशत और रिकवरी रेट 98.6 फीसद है। 11 जिले कोरोना मुक्त हो चुके हैं। इसमें अलीगढ़, अमेठी, अमरोहा, बदायूं, एटा, फर्रुखाबाद, हाथरस, महोबा, पीलीभीत, प्रतापगढ़ और सीतापुर शामिल है। मंगलवार को 2.28 लाख लोगों का कोरोना टेस्ट किया गया। अब तक कुल 6.62 करोड़ लोगों की कोरोना जांच की जा चुकी है।


टीकाकरण का आंकड़ा पांच करोड़ के पार पहुंचा : यूपी ने मंगलवार को कोरोना से बचाव के लिए चलाए जा रहे टीकाकरण अभियान में सारे रिकार्ड ध्वस्त कर दिए। एक दिन में 25.14 लाख लोगों को वैक्सीन लगाकर यूपी ने मध्य प्रदेश के 16 लाख वैक्सीन लगाने का रिकार्ड तोड़ दिया। अब उत्तर प्रदेश में टीकाकरण का आंकड़ा पांच करोड़ के पार पहुंच गया है। प्रदेश में टीकाकरण महाअभियान चलाकर यह कीर्तिमान बनाया गया है। टीकाकरण का कलस्टर माडल हिट साबित हो रहा है। देश में अब तक सबसे ज्यादा वैक्सीन यूपी में ही लगाई गई है।


यूपी के युवाओं के लिए रोजगार का सुनहरा मौका, चार अक्टूबर को हर जिले में लगेगा अप्रेंटिसशिप मेला

यूपी के युवाओं के लिए रोजगार का सुनहरा मौका, चार अक्टूबर को हर जिले में लगेगा अप्रेंटिसशिप मेला

युवाओं को अधिक से अधिक नौकरी देने की सरकार की मंशा के सापेक्ष एक और बड़ा कदम उठाया जा रहा है। औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों में आइटीआइ की पढ़ाई करने वाले विद्यार्थियों के कौशल को निखारने के लिए चार अक्टूबर को वृहद अप्रेंटिसशिप मेला लगेगा। लखनऊ समेत सूबे के सभी जिलों में लगने वाले मेले के माध्यम से एक दिन में दो लाख युवाओं को अप्रेंटिसशिप देने का लक्ष्य रखा गया है। इसके आयोजन के लिए जिले के राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों के प्रधानाचार्य को नोडल अधिकारी बनाया गया है। संयुक्त निदेशक व्यावसायिक शिक्षा एससी तिवारी ने बताया कि लखनऊ समेत सूबे की सभी 305 राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों और 2969 निजी संस्थानों के विद्यार्थियों को अप्रेंटिस के इस मेेले में शामिल करने की व्यवस्था करने के निदेश दिए गए हैं। कौशल विकास विभाग के जिला प्रबंधकों को भी इस वृहद मेले से जोड़ा जाएगा। 


औद्योगिक विकास को बढ़ावा देने का प्रयासः उपायुक्त उद्योग मनोज चौरसिया ने बताया कि जिला उद्योग केंद्रों के माध्यम से पंजीकृत उद्योगोें में आइटीआइ पास को अप्रेंटिस का मौका देकर उनके अंदर औद्योगिक समझ को बढ़ाने का प्रयास किया जाएगा। लखनऊ में भी ऐसे युवाओं को औद्याेगिक क्षेत्रों में भेजकर प्रेक्टिकल करने का मौका दिया जाएगा। कोरोना संक्रमण की वजह से अप्रेंटिस के लिए युवा आने से कतरा रहे थे। अब सामान्य स्थिति होने पर आयोजन हो रहा है। लघु, सूक्ष्म, मध्यम व उद्यम प्रोत्साहन विभाग की ओर से एमएसएमई को बढ़ावा देने का प्रयास किया जाएगा। 


निजी उद्योगों पर शिकंजाः सरकार ने सभी जिला उद्योग केंद्रों के माध्यम से संचालित निजी औद्योगिक इकाइयों को भी इसमे शामिल करने की अनिवार्यता सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए हैं। अभी तक निजी संस्थान अप्रेंटिस को लेकर मनमानी करते थे। एक दिन में वृहद मेला लगने से युवाओं को फायदा होगा और उनके अंदर तकनीक का विकास होगा।