नाबालिग को कमरे में कैद रखकर किया दुष्कर्म, आरोपित गिरफ्तार

नाबालिग को कमरे में कैद रखकर किया दुष्कर्म, आरोपित गिरफ्तार

13 साल की किशोरी को कमरे में कैद करके रखने व कोल्डड्रिंक में नशा पिलाकर दुष्कर्म करने के आरोपित को पटेलनगर कोतवाली पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

पटेलनगर कोतवाली के इंस्पेक्टर प्रदीप राणा के अनुसार एक महिला ने तहरीर दी थी कि उनके पड़ोस में एक युवक किराए पर रहता है।

16 सितंबर को आरोपित ने महिला की नाबालिग बेटी से कहा कि उसके पापा का एक्सींडेंट हो गया है। किशोरी को घटनास्थल पर ले जाने की बात कहकर वह अपने साथ जबरदस्ती अपने कमरे में ले गया और कैद कर लिया। आरोपित ने उसे कोल्डड्रिंक पिलाई जिसमें नशीली वस्तु मिलाई हुई थी। इनके बाद आरोपित ने किशोरी के साथ दुष्कर्म किया। किशोरी किसी तरह उसके चुंगल से छूटी और घर पहुंची। उसने अपनी मां को सारी बात बताई। पुलिस ने आरोपित के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया तो तब तक वह फरार हो चुका था। पुलिस ने सीसीटीवी कैमरे व मोबाइल लोकेशन के माध्यम से आरोपित को शनिवार रात को आइएसबीटी से गिरफ्तार कर लिया। आरोपित की पहचान मोहित कुमार निवासी ग्राम मानकपुर आदमपुर झबरेड़ा जिला हरिद्वार के रूप में हुई है।

वाहन चोरी का आरोपित गिरफ्तार

पटेलनगर कोतवाली पुलिस ने वाहन चोरी के आरोपित को गिरफ्तार किया है। इंस्पेक्टर प्रदीप राणा ने बताया कि हिंदवाण डिपार्टमेंटल स्टोर, कारगी रोड के मालिक देवानंद ने बताया कि शुक्रवार सुबह अज्ञात व्यक्ति ने उनकी कार चोरी कर ली। सूचना पर पहुंची पुलिस ने आसपास लगे सीसीटीवी के फुटेज जांचे तो आरोपित को कार लेकर कारगी से होते हुए दूधली रोड पर ले जाते हुए पाया गया। इंस्पेक्टर राणा ने बताया कि आरोपित नीलू निवासी बंजारावाला को गिरफ्तार कर लिया गया है। पूछताछ में आरोपित ने बताया कि वह कार को बेचने के लिए मेरठ ले जाने की फिराक में था।


ट्राउट मछली पालन से आत्मनिर्भर बन रहा बागेश्वर, 400 लोग व्यवसाय से जुड़कर सुधार रहे आर्थिकी

ट्राउट मछली पालन से आत्मनिर्भर बन रहा बागेश्वर, 400 लोग व्यवसाय से जुड़कर सुधार रहे आर्थिकी

प्रधानमंत्री मत्स्य पालन संपदा योजना में जिला आत्मनिर्भर बन रहा है। जिससे स्वरोजगार के साथ ही युवाओं की बेहतर कमाई भी हो रही है। जिले में पिछले साल पहली बार ट्राउट मत्स्य पालन की शुरूआत की गई थी। करीब चार सौ लोग इस व्यवसाय से जुड़े हैं। 

प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना के तहत चार समितियों के 65 लाभार्थी क्लस्टर आधार पर ट्राउट प्रजाति की मछली का पालन कर आर्थिकी सुधार रहे हैं। जगथाना, चचई और लीती में करीब 20 नाली भूमि में ट्राउट प्रजाति की मछली का उत्पादन किया जा रहा है। गत वर्ष 65 युवाओं ने योजना के तहत आवेदन किया। समितियां बनाकर उन्हें लाभाविंत किया गया। जिस पर तीस लाख्चा रुपये व्यय किए गए। ट्राउट मछली पालन शुरू किया गया। लाभार्थियों को 50 फीसदी अनुमदान भी मिला। इस वर्ष पांच समितियों का चयन किया गया है। उन्हें वित्तीय मदद का इंतजार है। 


ठंडे स्थान पर पाली जाती है ट्राउट

ट्राउट प्रजाति की मछली के लिए कम तापमान की जरूरत होती है। 10-15 डिग्री तापमान वाले स्थानों में जगथाना, लीती, चचई आदि स्थानों का चयन किया गया है। पहले सीजन में समितियों ने लगभग दस लाख का मुनाफा कमाया। ट्राउट मछली की कीमत एक हजार रुपये तक है। 

जिला मत्स्य अधिकारी मनोज मियान ने बताया कि ट्राउट मछली का बीज समितियों को विभाग दे रहा है। ठंड इलाकों में ट्राउट मछली का उत्पादन बेहतर हो रहा है। जिससे स्थानीय युवाओं का रोजगार मिल रहा है। विभाग लगातार मत्स्य पालन के क्षेत्र में काम कर रहा है।