पीएम राहत कोष के नाम पर फर्जी खाता बनाकर ठगी करने वाला आरोपी हुआ अरेस्ट

पीएम राहत कोष के नाम पर फर्जी खाता बनाकर ठगी करने वाला आरोपी हुआ अरेस्ट

 दिल्ली पुलिस सायबर सेल ने कोरोना को लेकर पीएम राहत कोष के नाम पर फर्जी खाता बनाकर ठगी करने के मुद्दे में एक प्राथमिकी दर्ज की है। डीसीपी द्वारा दी गई

जानकारी के अनुसार पीएम राहत कोष में धन जमा करने के लिए जो UPI ID है वो [email protected] भारतीय स्टेट बैंक है। । जबकि फर्जीवाड़ा करने वालों ने एक फर्जी खाता [email protected] भारतीय स्टेट बैंक बनाया यानी वास्तविक ID में से S हटा कर फर्जी खाता बनाया गया व धोखाधड़ी करने की प्रयास की।

पुलिस का बोलना है कि आरोपियों ने यह एकाउंट सोशल मीडिया पर भी वायरल कर दिया था, जिसके बाद सायबर सेल ने FIR दर्ज की है। वैसे फर्जी एकाउंट को ब्लॉक कर दिया गया है। इसके साथ ही सायबर सेल ने जनता से अपील की है कि जो भी लोग पैसा जमा करना चाहते हैं वह वास्तविक एकाउंट [email protected] भारतीय स्टेट बैंक में ही दान करें।

इससे पहले हिंदुस्तान सरकार के लेटर सूचना ऑफिस ने चेतावनी दी थी कि पीएम केयर फंड के नाम पर कई फर्जी यूपीआई आईडी से डोनेशन मांगा जा रहा है। पीआईबी की फैक्ट चेक टीम ने ट्वीट करते हुए बताया कि, 'पीएम केयर फंड के नाम पर प्रसारित हो रहे फर्जी यूपीआई आईडी से सावधान रहें। ' पीआईबी फैक्ट चेक टीम ने ट्वीट करते हुए जानकारी दी है कि पीएम केयर फंड में दान करने के लिए वास्तविक यूपीआई आईडी है— [email protected] इसके अतिरिक्त यदि आपके पास कोई लिंक या संदेश आता है, जिसमें यह आईडी नहीं है तो उसमें बिल्कुल डोनेट न करें। वह पीएम फंड के नाम पर आपको ठगने का कोशिश होने कि सम्भावना है।