साढ़े तीन साल की मासूम संग महीने भर से कर रहा था हैवानियत, आरोपी करता था ये घिनौना काम

साढ़े तीन साल की मासूम संग महीने भर से कर रहा था हैवानियत, आरोपी करता था ये घिनौना काम

कानपुर में बिधनू के एक गांव में सोमवार को साढ़े तीन साल की बच्ची से दुष्कर्म करने के मामले में पुलिस की जांच में बड़ा खुलासा हुआ है। किशोर (13) पिछले एक महीने से बच्ची के साथ अश्लीलता कर रहा था। बच्ची ने घर पर बताने का भी प्रयास किया था लेकिन परिजन समझ नहीं पाए।

अब जब बच्ची के साथ उसने दुष्कर्म किया तो यकीन हो गया कि उसने ऐसा किया होगा। उधर पीड़ित बच्ची को बुधवार को हैलट से डिस्चार्ज कर दिया गया है। बच्ची की हालत अब बेहतर है। पुलिस ने गांव निवासी 13 वर्षीय एक किशोर को पकड़ा था।

उस पर दुष्कर्म व पॉक्सो एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया था। जांच में सामने आया कि किशोर पहले भी दो बच्चियों के साथ ऐसी हरकतें कर चुका है। इस घटना के बाद बच्चियों के परिजन पुलिस के सामने आए।

तब मामला दबा लिया गया था लेकिन अब जब किशोर पर केस दर्ज हुआ तो पुराने मामले भी उजागर हो गए। पुलिस ने मामले में कई ग्रामीणों के बयान भी दर्ज किए। सूत्रों के मुताबिक मामले में समझौते के लिए दबाव भी बनाया जा रहा है। 

दिमाग में चल रही थी गंदी बात
पुलिस ने किशोर को किशोर न्याय बोर्ड के सामने प्रस्तुत किया। उसके बाद बाल संप्रेक्षण गृह भेजा दिया गया। सूत्रों के मुताबिक पूछताछ में किशोर ने बताया कि वह पोर्न फिल्में देखता था। जो देखता था वही उसके मन में चल रहा था। इसलिए उसने वही कर दिया। उसको कुछ समझ नहीं आ रहा था। फोरेंसिक जांच रिपोर्ट में घटना की पुष्टि हुई है।

इतने साल की बच्ची के साथ हुआ दुष्कर्म , गार्ड हुआ गिरफ्तार

इतने  साल की बच्ची के साथ हुआ  दुष्कर्म , गार्ड  हुआ गिरफ्तार

विस्तार केंद्रशासित प्रदेश दादर और नगर हवेली, दमन और दीव के दमन जिले में एक सरकारी अस्पताल में 11 साल की लड़की से दुष्कर्म करने के आरोप में एक सुरक्षा गार्ड को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने शनिवार को यह जानकारी दी। दमन थाने के एक अधिकारी ने बताया कि बच्ची अपनी मां के साथ थी, जिसका अस्पताल में इलाज चल रहा था। यह घटना 11 जनवरी को मारवाड़ सरकारी अस्पताल में हुई थी। आरोपी ने कथित तौर पर लड़की को पानी देने के बहाने सुनसान कमरे में ले जाकर उसके साथ दुष्कर्म किया।

अधिकारी ने कहा कि अपराध के बारे में जानने के बाद एक पुलिस टीम अस्पताल पहुंची। सुरक्षा गार्ड फरार था, इसलिए हमने कई दलों का गठन किया और उसे बस अड्डे से तब पकड़ लिया जब वह कल रात जिले से भागने की कोशिश कर रहा था। उन्होंने बताया कि आरोपी की पहचान प्रशांत कुमार के रूप में हुई है जो बिहार का रहनेवाला है।

अधिकारी ने बताया कि आरोपी के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 376, 376 (ए) (बी) और यौन अपराधों से बच्चों का संरक्षण (पॉक्सो) अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया है। उन्होंने कहा कि स्थानीय अदालत ने आरोपी को पांच दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया है। आगे की जांच जारी है।