शायद आप नहीं जानते होंगे नदी में सिक्के डालने की ये खास वजह

शायद आप नहीं जानते होंगे नदी में सिक्के डालने की ये खास वजह

हमारे यहां कई खास बातें हैं जिन्हें हम देखकर भी अनदेखा कर देते है। लेकिन कुछ बातें हैं जो बेहद परेशान करती है कि आखिर ऐसा क्यों किया जाता है। आज हम आपको एक ऐसे ही रहस्य के बारे में बताने जा रहे है। हम जहां पर भी कोई तालाब या अन्य किसी जल का स्त्रोत देखें तो तुरंत इसमें एक सिक्का डाल दें। ऐसा करना गुड लक माना जाता है। 

नदी में सिक्के डालने की ये खास वजह

इस रिवाज के पीछे एक वजह छिपी हुई है। दरअसल जिस समय नदी में सिक्का डालने की ये प्रथा शुरू हुई थी एस समय तांबे के सिक्के चला करते थे। तांबा पानी का प्यूरीफिकेशन करने में काम आता है इसलिए लोग जब भी नदी या किसी तालाब के आसपास से गुजरते थे तो उसमें तांबे का सिक्का डाल दिया करते थे।


ज्योतिष में भी कहा गया है कि लोगों को अगर किसी तरह का दोष दूर करना हो तो उसके लिए वो जल में सिक्के और कुछ पूजा की सामग्री को प्रवाहित करे। इसके साथ ही ज्योतिष में ये भी कहा गया है कि अगर बहते पानी में चांदी का सिक्का डाला जाए तो उससे दोष खत्म होता है। 


बहादुर मां ने ऐसे बचाई अपने बच्चे की जान

बहादुर मां ने ऐसे बचाई अपने बच्चे की जान

सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसे देख आप हैरान हो जाएंगे। इस वीडियो में एक मां ने न केवल ममता, बल्कि बहादुरी की भी मिसाल पेश की है। लोग वीडियो देख मां की बहादुरी की जमकर तारीफ कर रहे हैं। इस वीडियो में साफ देखा जा सकता है कि बंदर का एक बच्चा बिजली की तार पर लटक रहा है। वह उतरने की पूरी कोशिश करता है, लेकिन सफल नहीं हो पाता है।


वीडियो देख ऐसा लगता है कि कई बंदर एक झुंड में छत पर आराम फरमा रहे हैं। इनमें बंदरनी यानी बच्चे की मां भी है। बंदर का बच्चा इठला-इठला कर इधर-उधर उछल रहा है। तभी बच्चे के मन में शरारत सूझती है और वह छत की दीवार पर जाकर बैठ जाता है। इतना ही नहीं, इसके बाद वह उछलकर बिजली की तार पर चढ़ जाता है। हालांकि, उसे पता नहीं होता है कि बिजली की तार पर ड्रामा करना खतरे से खाली नहीं होता है।

उस समय बच्चे की मां की नजर अपने बच्चे पर पड़ती है। वह व्याकुल हो उठती है कि बिजली की तार पर लटकने और झूलने से करेंट भी लग सकता है। यह देख सभी बंदर परेशान हो जाते हैं। सभी मदद करना चाहते हैं, लेकिन कर नहीं पा रहे हैं। बंदर का बच्चा अपनी तरफ से पूरी कोशिश करता है। इसके बावजूद वह छत पर उतर नहीं पा रहा है। जब मां से रहा नहीं जाता है, तो वह उछलकर तार पर जाकर बैठ जाती है। इस क्रम में वह अपना वजन संतुलित नहीं कर पाती है। यह जान वह वापस छत पर आ जाती है। इसके बाद एक बार फिर कोशिश करती है। इस कोशिश में वह सफल हो जाती है। उस समय मां और बच्चे दोनों हैप्पी होते हैं।

इस वीडियो को भारतीय सेवा अधिकारी Rupin Sharma IPS ने सोशल मीडिया ट्विटर पर अपने अकांउट से शेयर किया है। इसके कैप्शन में उन्होंने लिखा है-मां का प्यार या जरूरत पर दोस्त। इस वीडियो को खबर लिखे जाने तक 1 हजार बार देखा गया है। वहीं, कुछ लोगों ने पसंद कर कंमेटस किए हैं।