Video: कलेक्टर ऑफिस के गेट पर चढ़ रहे कांग्रेसी नेता का उतर गया पजामा, लोगों ने जमकर लिए मजे

Video: कलेक्टर ऑफिस के गेट पर चढ़ रहे कांग्रेसी नेता का उतर गया पजामा, लोगों ने जमकर लिए मजे

Congress: मध्य प्रदेश के मंदसौर में किसानों के समर्थन में प्रदर्शन करने कलेक्टर कार्यालय पहुंचे एक कांग्रेसी नेता का पजामा खिसक गया. मंदसौर में किसान आंदोलन के समर्थन में कांग्रेस पार्टी ने ट्रैक्टर रैली आयोजित की थी. इसके बाद कांग्रेस कार्यकर्ताओं और नेताओं ने कलेक्ट्रेट का घेराव किया.

इस दौरान कांग्रेस नेता राकेश पाटीदार का कई नेताओं के साथ कलेक्टर ऑफिस का गेट डाकने की कोशिश कर रहे थे. इस दौरान उनका पजामा खिसक गया. तब वह गेट पर चढ़ भी नहीं पाए थे और उन्हें अपना यह प्रयास छोड़ना पड़ा. इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है.

इस वीडियो को देखकर लोग जमकर मजे ले रहे हैं. दरअसल प्रदर्शन के चलते पुलिस ने कलेक्ट्रेट ऑफिस का मुख्य गेट बंद कर दिया था. इसके बाद भी कांग्रेस कार्यकर्ता अंदर जाने की मांग पर अड़े थे. इस दौरान उनके बीच जमकर धक्का-मुक्की हो गई. वहीं गेट के ऊपर चढ़ने के प्रयास के दौरान खींचतान की वजह से कांग्रेस नेता राकेश पाटीदार का पजामा खिंच गया.

बता दें कि तीन नए कृषि कानूनों को लेकर देशभर के अलग-अलग हिस्सों में किसान आंदोलन कर रहे हैं. किसान आंदोलन के समर्थन में कांग्रेस पार्टी पूरे मध्य प्रदेश में प्रदर्शन कर रही है. इस बीच मंदसौर में भी कांग्रेस कार्यकर्ता कलेक्ट्रेट के सामने प्रदर्शन कर रहे हैं. सुवासरा उपचुनाव में विधानसभा के प्रत्याशी रहे कांग्रेस नेता राकेश पाटीदार भी इस दौरान मौजूद थे, जिनके साथ पजामा उतरने की घटना हो गई.


मीडिया रिपोर्ट्स में दावा- नॉर्वे में वैक्सीनेशन के बाद 23 लोगों की मौत, फाइजर की वैक्सीन पर सवाल

मीडिया रिपोर्ट्स में दावा- नॉर्वे में वैक्सीनेशन के बाद 23 लोगों की मौत, फाइजर की वैक्सीन पर सवाल

कई देशों में कोरोना वायरस से निपटने के लिए वैक्सीनेशन शुरू हो गया है। इस बीच नॉर्वे से एक हैरान करने वाली खबर आई है। चीन के अखबार ग्लोबल टाइम्स के मुताबिक, यहां वैक्सीन लगवाने के बाद 23 लोगों की मौत हो गई। बताया जाता है कि इन सभी को अमेरिकी कंपनी फाइजर की वैक्सीन लगाई गई थी।

नॉर्वे में नए साल के जश्न के 4 दिन बाद वैक्सीनेशन शुरू किया गया था। देश में 33 हजार लोगों को वैक्सीन दी जा चुकी है। नॉर्वे की मेडिसिन एजेंसी के अनुसार, अब तक 29 लोगों में साइड इफेक्ट दिखे हैं। 23 मरीजों की मौत हो गई है। इनमें से 13 की पुष्टि हुई है। नॉर्वे में कोरोना के 57 हजार 736 केस सामने आ चुके हैं।

मरने वालों में ज्यादातर की उम्र 80 साल से ज्यादा थी
एजेंसी के डायरेक्टर स्टाइनर मैडसेन ने कहा कि मरने वालों में ज्यादातर की उम्र 80 साल से ज्यादा थी। जांच में पाया गया कि इनमें से कई अस्पताल में एडमिट थे। कुछ लोगों ने वैक्सीन लगने के बाद बुखार और सांस लेने में तकलीफ की शिकायत की थी। फिर उनकी हालत बिगड़ गई।

मैडसेन से कहा है कि ऐसे मामले बहुत रेयर हैं। हजारों लोगों को बिना किसी साइड इफेक्ट के वैक्सीन लगाई गई है। इस तरह यह माना जा सकता है कि जिन लोगों की मौत हुई, वे दिल की बीमारी या किसी अन्य गंभीर बीमारी से पीड़ित थे।

एक्सपर्ट का दावा- वैक्सीन जल्दबाजी में डेवलप की गई
रूस की न्यूज एजेंसी स्पूतनिक की एक रिपोर्ट के मुताबिक, 29 लोगों में साइड इफेक्ट की सूचना आई थी। इनमें से 23 की मौत हो गई। इन्हें वैक्सीनेशन से जोड़ा जा रहा है। वहीं ग्लोबल टाइम्स ने शुक्रवार को कहा कि देश के हेल्थ एक्सपर्ट्स ने फाइजर की mRNA बेस्ड वैक्सीन का इस्तेमाल रोकने के लिए गुजारिश की है। चीन के एक्सपर्ट के मुताबिक यह वैक्सीन जल्दबाजी में डेवलप की गई थी।


महाराष्ट्र, हरियाणा में मुर्गियों को मारने का सिलसिला जारी       सूरत से कोलकाता जा रहा इंडिगो विमान का भोपाल में इमरजेंसी लैंडिंग       कानून रद करने के अलावा विकल्प बताएं किसान संगठन, 10वें दौर की वार्ता 19 को : कृषि मंत्री       केंद्र सरकार ने बदली रणनीति, अब हर राज्य के लिए कोविड टीकाकरण के दिन तय, जानें       कोविड वैक्‍सीन के हल्‍के दुष्‍प्रभावों को लेकर डरने की जरूरत नहीं, जानें       वृष राशि के जातक को नौकरी में मिलेंगे नए अवसर, जानें आज का राशिफल       20 हजार से भी कम कीमत में मिल रही ये स्मार्ट TV, जानें फीचर्स       सर्दियों में खूब खाएं अमरूद, बढ़ेगी रोग-प्रतिरोधक क्षमता       शेन वॉर्न ने ऋषभ पंत का उड़ाया मजाक       Bigg Boss 14: दर्दनाक हादसे में टैलेंट मैनेजर की मौत       चीन ने यहां चुपके से बना दी कई KM लंबी नई सड़क, भारत के लिए खतरे की घंटी       राज्यों में बरसेगा कहर, और बढ़ेगी ठंड चलेगी बर्फीली हवा       कांग्रेस ने वैक्सीन धंधे पर सरकार को घेरा, बेल्जियम को सस्ती तो भारत में महंगी क्यों?       CBI का बड़ा एक्शन, रेलवे में भ्रष्टाचार का खुलासा!       वैक्सीन पर आखिर क्यों हो रहा है विवाद, जानें       कर्नाटक में गरजे अमित शाह, वैक्सीन पर कांग्रेस को घेरा       झारखंड सरकार का सिर दर्द बने पारा शिक्षक       अब fastag को whatsapp से करें ऑर्डर, जानें       फर्स्ट डे कितने लोगों ने कराया वैक्सीनेशन, कौन सा राज्य रहा सबसे आगे       बाल-बाल बचे कांग्रेस अध्यक्ष, भयानक हमले में कार हुई चकनाचूर